भारत ने जम्मू कश्मीर को लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप के बयान को किया खारिज

नयी दिल्ली । भारत ने जम्मू कश्मीर को लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बयान को आज सिरे से खारिज कर दिया और कहा कि इस मुद्दे पर किसी तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं है और भारत से इस पर द्विपक्षीय बात करने के लिए उचित वातावरण बनाने की जिम्मेदारी पाकिस्तान की है।


विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने यहां नियमित ब्रीफिंग में दावोस में ट्रंप के बयान के बारे में एक सवाल के बारे में कहा कि हमने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के बयानों को देखा है। कश्मीर के मुद्दे पर भारत का रुख बहुत स्पष्ट एवं सतत है।


उन्होंने कहा कि हम एक बार पुन: दोहराते हैं कि इस मुद्दे पर किसी तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं है। यह भारत एवं पाकिस्तान के बीच किसी भी द्विपक्षीय मुद्दे पर कोई भी बात शिमला समझौते और लाहौर घोषणापत्र के प्रावधानों के अनुरूप होनी चाहिए। इस बातचीत के लिए हिंसा एवं आतंक से मुक्त अनुकूल वातावरण बनाने की जिम्मेदारी पाकिस्तान की है


दावोस में भी पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा भारत पर टिप्पणी किये जाने के बारे में श्री कुमार ने कहा कि श्री खान की बातें विरोधाभासी और तथ्यात्मक रूप से गलत हैं। यह दर्शाता है कि वह किस कदर हताशा और निराशा की भावनाओं से घिरे हैं। पाकिस्तान को समझना होगा कि वैश्विक समुदाय उनके दोहरे मापदंडों को अच्छी तरह से समझ गया है।


उन्होंने कहा कि हालत खराब होने के बावजूद भी आखिर पाकिस्तान उन आतंकवादी संगठनों के विरुद्ध ठोस, निर्णायक एवं सत्यापन योग्य कार्रवाई क्यों नहीं करता है। उसे दुनिया को गुमराह करने वाले बयान देने से बाज़ आना चाहिए और उनको अपने देश में सक्रिय आतंकवादियों पर लगाम लगानी चाहिए।


Comments