एनपीआर और एनआरसी का डाटा तैयार करने के शक में पोलियो की टीम को बंधक बनाकर पीटा

मेरठ l   पल्स पोलियो अभियान की टीम को एनपीआर और एनआरसी का डाटा तैयार करने के शक में मारपीट का मामला प्रकाश में आया है। बताया गया कि एनपीआर और एनआरसी का डाटा तैयार करने वाली टीम समझकर पहले मारपीट की गई फिर स्टाफ की एक महिला के साथ अभद्रता भी की गई। इसके बाद दोनों कर्मचारियों को करीब एक घंटे तक घर में बंधक बनाया गया।


लिसाड़ीगेट थाना क्षेत्र के लक्खीपुरा में शुक्रवार को पल्स पोलियो अभियान की टीम बच्चों को दवा पिलाने गई थी। इस दौरान टीम जैसे ही अली बाग कॉलोनी में पहुंची तो वहां दवा पिलाने को लेकर एक परिवार के लोगों से इनकी बहस हो गई। इस बीच वहां एक व्यक्ति पहुंचा और उसने शोर मचा दिया कि यह एनपीआर और एनआरसी का डाटा तैयार कर रहे हैं। इसके बाद वहां भीड़ लग गई।

वहीं भीड़ को देख टीम के सदस्य वहां से जाने लगे तो उन्हें पकड़कर बंधक बना लिया गया। इसके बाद किसी तरह वे वहां से जान बचाकर भागे। पीड़ित लोगों ने शनिवार को पूरी टीम के साथ लिसाड़ीगेट थाना पहुंचकर तहरीर दी है। तहरीर में बताया गया कि उनके साथ मारपीट व अभद्रता की गई है।

इंस्पेक्टर कपिल प्रशांत ने बताया कि पोलियो की टीम में दीपक पुत्र रामचंद्र वर्मा निवासी शताब्दीनगर और नीतू खैरवाल निवासी गंगानगर के साथ मारपीट और अभद्रता की गई है। इंस्पेक्टर का कहना है कि तहरीर ले ली गई है। सभी आरोपियों के खिलाफ मारपीट, अभद्रता और कई संगीन धाराओं में कार्रवाई की जाएगी। वहीं एक आरोपी आस मोहम्मद का नाम सामने आया है।


Comments