केरल और पंजाब के बाद अब राजस्थान में भी पास हुआ नागरिकता संशोधन

जयपुर। राजस्थान सरकार ने शनिवार को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ प्रस्ताव विधानसभा में पास कर दिया है। केरल और पंजाब के बाद राजस्थान अब ऐसा तीसरा राज्य बन गया है, जहां सीएए के खिलाफ प्रस्ताव पास हुआ है। 


केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने इस प्रस्ताव का विरोध किया है। उन्होंने कहा कि यह लोकतंत्र की हत्या करने जैसा है। विधानसभाएं इन प्रस्तावों को पारित करके संविधान द्वारा दी गई सीमित स्वायत्तता से परे जा रही हैं। यह देश को विभाजित करने के लिए एक साजिश है और इसे बिल्कुल स्वीकार्य नहीं किया जाएगा।


राजस्थान में शुक्रवार यानी 24 जनवरी से विधानसभा का बजट सत्र शुरू हो गया है। सत्र के दूसरे दिन ही सीएए के खिलाफ प्रस्ताव पास कर दिया गया। राज्य मंत्रिमंडल ने इस प्रस्ताव को मंजूरी पहले ही दे दी थी। वहीं, आज प्रस्ताव पास होने से पहले विधानसभा में चर्चा हुई थी, जिसमें भाजपा ने इस प्रस्ताव का विरोध किया।


Comments