अमित शाह ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में अपनी हार स्वीकार करी



 







नई दिल्ली: दिल्ली में हार के बाद सार्वजनिक तौर पर पहली बार बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने  अपनी हार स्वीकार कर ली. उन्होंने कहा कि 'देश के गद्दारों को, गोली मारो...' और 'भारत-पाक मैच' जैसे बयान नहीं देने चाहिए थे. हो सकता है कि इस तरह के बयानों के कारण पार्टी को नुकसान उठाना पड़ा हो. शाह ने कहा भाजपा भले ही हार गई हो, लेकिन उसने 'अपनी विचारधारा का विस्तार किया.' उन्होंने कहा कि भाजपा दिल्ली विधानसभा में जिम्मेदार विपक्ष की भूमिका निभाएगी.














गृह मंत्री शाह ने स्वीकार किया कि उनका दिल्ली चुनावों में 45 सीटें प्राप्त करने का आकलन गलत साबित हुआ. उन्होंने कहा, "मेरा आकलन 45 सीटों का था. यह गलत साबित हुआ."


उन्होंने अपने ईवीएम से करंट लगाने के बयान का तो बचाव किया, लेकिन कहा कि भाजपा नेताओं द्वारा चुनाव प्रचार के दौरान की गईं कुछ टिप्पणियां अनुचित थीं. उन्होंने कहा, "भाजपा ने उनसे (नेताओं के विवादित बयानों से) खुद को अलग किया था.