भाकियू का 'घेरा डालो-डेरा डालो' आंदोलन के तहत अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन शुरू

मुजफ्फरनगर।  गन्ना भुगतान समेत किसानों की विभिन्न मांगों को लेकर भाकियू ने घेरा डालो-डेरा डालो आंदोलन के तहत कलेक्ट्रेट में अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन शुरू किया। इसके चलते शहर में जाम लग गया। सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।


जहीर फारूकी ने कहा कि सरकार लोगों में हिंदू मुस्लिम की खाई खोदकर नफरत पैदा कर जहर घोल रही है। दफ्तरों में कर्मचारी लोगों का आर्थिक उत्पीड़न कर रहे हैं। मिलों द्वारा किसानों को गन्ना भुगतान नहीं दिया जा रहा है, मगर सरकार इस ओर ध्यान न देकर भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रही है। यहां बड़ी संख्या में धरना प्रदर्शन में पहुंचे किसानों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। 

यहां तक कि एक किसान ने अपना ट्रैक्टर कलेक्ट्रेट परिसर में ले जाकर खड़ा कर दिया। जहीर फारूकी ने कहा कि मैंने एक तोप निकलवाकर उसे शहीद स्थल पर रखने की मांग की तो मेरे खिलाफ मुकदमा कायम कर दिया। उसी दिन से मेरे द्वारा कस्बे में कराए जा रहे विकास कार्यों की जांच कराई जा रही है। 

उन्होंने कहा कि आज भाकियू की प्रशासन से आरपार की लड़ाई है।  मांगेराम त्यागी, अफसर अली आदि ने भी विचार व्यक्त किए। रियासत खलीफा, शाहनवाज खान, हाफिज मोहसिन, अकील खान, तौसीफ फारूकी, राजपाल, नौशाद सभासद, दीपू वर्मा सभासद, शाहनजर, शेरअली फरीदी, हारून फरीदी, सरताज फरीदी, शमीम अहमद, कामिल अहमद, मोहब्बत राठी, शाहलम, तौकीर आदि मौजूद रहे।


Comments