भारत बंद: सीएए के विरोध में बंद कराने आए थे दुकान, महिला ने लाल मिर्च झोंककर खदेड़ा

 यवतमाल, महाराष्ट्र। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का विरोध करने वाले संगठनों ने 29 जनवरी को भारत बंद का एलान किया है। हालांकि इसे लेकर सभी राज्यों में प्रशासन पूरी तरह अलर्ट है। वहीं, महाराष्ट्र में भी इसका मिला जुला असर देखने को मिला। पुलिस ने राज्य के पुणे शहर में प्रदर्शन कर रहे 250 लोगों को हिरासत में लिया है। दूसरी ओर महाराष्ट्र के यवतमाल में भारत बंद को लेकर दुकान बंद कराने आए प्रदर्शनकारियों के बीच नोकझोंक में एक महिला ने उन पर लाल मिर्च झोंक दिया। 


दरअसल, देश के अन्य शहरों की तरह यवतमाल में भी प्रदर्शन हो रहा था। इसी दौरान यवतमाल में प्रदर्शनकारियों ने दुकानों को बंद कराना चाहा, जिस पर दुकानदारों ने इसका विरोध किया। प्रदर्शनकारियों और दुकानदारों के बीच तीखी नोकझोंक हुई। बात इतनी बढ़ गई कि एक महिला ने प्रदर्शनकारियों पर लाल मिर्च झोंक दी और उन्हें खदेड़ दिया।

बहुजन क्रांति मोर्चा के इस भारत बंद को एनआरसी-सीएए का विरोध करने वाले अन्य संगठनों का भी सहयोग मिल रहा है। वहीं, भारत बंद के तहत कांजुरमार्ग स्टेशन पर पटरियों पर विरोध प्रदर्शन के कारण बुधवार सुबह मुंबई में मध्य रेलवे (सीआर) की उपनगरीय रेल सेवाएं कुछ हद तक प्रभावित हुईं। पुलिस ने बताया कि कम से कम 100 प्रदर्शनकारी सुबह आठ बजे रेलवे स्टेशन की पटरियों पर जमा हो गए और सीएसएमटी की ओर जाने वाली धीमी गति की कई ट्रेनों को रोक दिया।

दिल्ली के जंतर-मंतर पर भी नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर प्रदर्शन किया जा रहा है। यहां कार्यकर्ता तपन बोस ने कहा कि पाकिस्तान कोई दुश्मन देश नहीं है, भारत और पाकिस्तान का शासक वर्ग एक जैसा है। हमारी सेनाएं भी एक जैसी हैं, उनकी सेना अपने लोगों को मारती है और हमारी सेना हमारे लोगों को मारती है, उनमें कोई अंतर नहीं है।


Comments