जेपी नड्डा भाजपा के 11वें राष्ट्रीय अध्यक्ष बने, शाह के बाद लगातार दूसरे ऐसे नेता जिन्हें यूपी में सफलता के बाद कमान मिली

नई दिल्ली. जगत प्रकाश नड्डा सोमवार को भाजपा के 11वें राष्ट्रीय अध्यक्ष बने। उन्होंने चुनाव प्रक्रिया के तहत सुबह पार्टी मुख्यालय में इस पद के लिए नामांकन दाखिल किया था। दूसरा कोई पर्चा दाखिल नहीं होने पर उन्हें आम सहमति से अध्यक्ष चुन लिया गया। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा कार्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर सकते हैं।


पार्टी सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी समेत समस्त भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री और उप-मुख्यमंत्री, राज्यों के प्रदेश अध्यक्ष जेपी नड्डा के नाम का प्रस्ताव रखा। उन्हें मोदी और अमित शाह के अलावा संघ का करीबी माना जाता है। शाह के केंद्रीय मंत्री बनने के बाद नड्डा को 19 जून 2019 काे कार्यकारी अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।


सचिव और उपाध्यक्ष के पदों पर भी बदलाव होगा
भाजपा ने सभी प्रदेश अध्यक्षों, संगठन महामंत्रियों और राज्यों में कोर ग्रुप सदस्यों को दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय बुलाया है। वहीं, पिछले कुछ दिनों में भाजपा के संगठनात्मक चुनावों की प्रक्रियाओं से जुड़े कार्यों में तेजी आई। चुनाव प्रभारी राधामोहन सिंह की टीम ने मतदाता सूची तैयार की। नड्डा के अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी में सचिव और उपाध्यक्ष के पदों पर भी बदलाव होगा। हालांकि, महासचिव स्तर पर बदलाव की संभावना कम है।


नड्डा फिलहाल सांसद और संसदीय बोर्ड के सचिव
जेपी नड्‌डा राज्यसभा से सांसद हैं। वे भाजपा के संसदीय बोर्ड के सचिव भी हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में पार्टी ने उन्हें उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी सौंपी थी। वहां भाजपा ने 80 में से 62 सीटों पर जीत दर्ज की थी। जून 2019 में नड्‌डा को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया था। उसके बाद से ही यह अटकलें लगाई जा रही थीं कि पूर्णकालिक अध्यक्ष के तौर पर वे अमित शाह के उत्तराधिकारी होंगे।


Comments