वसंत पंचमी: 'ऋतुराज' के साथ ब्रज में होली का आगाज, बांकेबिहारी मंदिर में 'प्रेमरंग' की वर्षा

 वृंदावन मथुरा। ब्रज में वसंत पंचमी पर 40 दिवसीय फाग महोत्सव (होली) का शुभारंभ हो गया। बृहस्पतिवार की सुबह शृंगार आरती के बाद ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर में अबीर-गुलाल से होली खेली गई। इस दौरान मंदिर में प्रेमरूपी रंगों की ऐसी बरसात हुई, जिसमें भक्त सराबोर हो गए। मंदिर परिसर ठाकुरजी के जयकारों से गुंजायमान हो गया।


ऋतुराज वसंत के आगमन पर शृंगार आरती के बाद ठाकुर बांकेबिहारी महाराज ने वसंती पोशाक धारण कर भक्तों को दर्शन दिए। मंदिर के सेवायतों ने चांदी के थालों में हरा, लाल, वसंती, गुलाबी और पीले रंग का गुलाल भक्तों पर डाला।


वसंत पंचमी पर रंगों के मिलन से मंदिर में इंद्रधनुषी छटा बिखर गई। मंदिर सेवायत सुगंधित अबीर गुलाल श्रद्धालुओं पर उड़ा रहे थे। श्रद्धालुओं में बांकेबिहारी के दर्शन और ठाकुरजी का प्रसादी अबीर गुलाल शरीर पर डलवाने की होड़ मची रही।


बांकेबिहारी मंदिर के सेवायत ने बताया कि सर्वप्रथम वसंत पंचमी पर ठाकुरजी के गालों पर गुलाल लगाया जाता है। ठाकुर श्री बांकेबिहारी मंदिर में गुलाल उड़ने के साथ ही ब्रज की परंपरागत होली के शुभारंभ हो जाता है। 


Comments