जैव विविधता पर दुनिया के पहले सम्मेलन के लिए भारत तैयार, गुजरात में जुटेंगे 110 देशों के प्रतिनिधि

नई दिल्ली।  संयुक्त राष्ट्र के बैनर तले आयोजित होने वाले पहले अंतरराष्ट्रीय जैव विविधता के सम्मेलन के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। गुजरात की राजधानी गांधीनगर में सोमवार से यह सम्मेलन शुरू होगा। इसमें 110 देशों के 1,200 से ज्यादा के प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे। सम्मेलन में मुख्य रूप से प्रवासी जीवों की संख्या में आ रही गिरावट पर चर्चा होगी। उनके संरक्षण के तरीकों पर विचार होगा।


सम्मेलन में रेगिस्तान में रहने वाले गोबी भालू, ईरान और इसके आसपास पाया जाने वाला तेंदुआ और मध्य एशिया के जंगलों में पाई जाने वाली यूरीयाल भेड़ों की गिरती संख्या पर खासतौर पर चर्चा होगी। इसके अतिरिक्त भारत में पाए जाने वाले हाथी, उल्लू और गंगा नदी में पाई जाने वाली डॉल्फिन मछलियों पर भी चर्चा होगी।


Comments